Wednesday 27 May 2020, 04:10 AM
प्रधानमंत्री मोदी का शुक्रिया, वे बहुत अच्छे हैं : ट्रंप
By अरुल लुइस | Bharat Defence Kavach | Publish Date: 4/9/2020 12:03:16 PM
प्रधानमंत्री मोदी का शुक्रिया, वे बहुत अच्छे हैं : ट्रंप

न्यूयॉर्क: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कोरोनावायरस महामारी से लड़ने में असरदार हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वाइन (एचसीक्यू) दवा के प्री-आर्डर के निर्यात को अनुमति देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का दो बार शुक्रिया अदा कर, उन्हें एक अच्छा इंसान बताया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इस पर अपनी प्रतिक्रया देते हुए कहा कि भारत-अमेरिका की साझेदारी पहले से ज्यादा मजबूत हुई है और ऐसे वक्त में दोस्ती और गहरी होती है।

राष्ट्रपति ट्रंप ने न्यूज ब्रिफिंग में टीवी के माध्यम से देश को संबोधित करते हुए कहा, "मैं भारत के प्रधानमंत्री (नरेंद्र) मोदी का शुक्रगुजार हूं, हमने उनसे समस्या (महामारी के बढ़ते मामलों) के सामने आने से पहले जो कुछ भी अनुरोध किया था उन्होंने वह सब दिया, वे बहुत अच्छे (व्यक्ति) हैं। हम (अमेरिकी) इसे याद रखेंगे।" उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी का दूसरी बार आभार व्यक्त किया। इससे पहले राष्ट्रपति ट्रंप ने सोशल मीडिया के माध्यम से भारतीय प्रधानमंत्री को धन्यवाद कहा था।

राष्ट्रपति ट्रंप ने अपने ट्वीट में कहा, "असाधारण समय में भी दोस्तों के बीच घनिष्ठ सहयोग की आवश्यकता होती है। एचसीक्यू (दवा निर्यात) पर निर्णय के लिए भारत और भारतीयों को धन्यवाद। हम इसे (मदद को) नहीं भूलेंगे!" उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी का शुक्रिया अदा करते हुए आगे कहा, "अपने मजबूत नेतृत्व के माध्यम से इस लड़ाई में न केवल भारत, बल्कि मानवता की मदद करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद।"

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसके जवाब में गुरुवार को ट्वीट कर कहा, "राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप, आपके कथन से पूरी तरह सहमत हूं। ऐसे समय दोस्तों को करीब लाते हैं। भारत-अमेरिका की साझेदारी पहले से अधिक मजबूत हुई है।" उन्होंने आगे कहा, "भारत कोविड-19 के खिलाफ मानवता की लड़ाई में मदद करने के लिए हर संभव प्रयास करेगा। हम इसे एक साथ जीतेंगे।"

राष्ट्रपति ट्रंप का यह धन्यवाद संदेश इस बात की पुष्टि करता है कि भले ही दोनों देशों की मीडिया और नेताओं द्वारा दवा के निर्यात को लेकर तल्ख टिप्पणियां की जा रही हो, लेकिन भारत दुनिया के सामने एक फार्मास्युटिकल पावरहाउस और मानवीय सहायता के स्रोत के रूप में उभर कर सामने आया है।

अमेरिका में हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वाइन (एचसीक्यू) दवा के उपयोग के खिलाफ एक मीडिया अभियान के बावजूद, राष्ट्रपति ट्रंप ने कोविड-19 महामारी के खिलाफ इसके असरदार होने की वकालत की है। अमेरिका में कोरोनावायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 5 लाख (आधे मिलियन) के अंक की ओर बढ़ रही है। देश में बुधवार रात को 31,503 मामले दर्ज किए गए, जिसके बाद से यहां कुल संक्रमित व्यक्तियों की संख्या बढ़कर 4,31,838 हो गई है।

अमेरिका की अधिकांश मेनस्ट्रीम मीडिया ने हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वाइन को खतरनाक बताकर इसे राष्ट्रपति ट्रंप के खिलाफ एक आंशिक मुद्दा बना दिया है, जबकि विपक्षी पार्टी डेमोक्रेटिक के सदस्य व न्यूयॉर्क के गवर्नर एंड्रयू क्यूमो वह पहले व्यक्ति थे, जिन्होंने 1,100 रोगियों पर इसे टेस्ट करने का अनुरोध किया था।

वहीं, डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से मिशिगन की एक स्टेट रिप्रेजेंटेटिव करेन व्हाट्सएट ने इस दवा पर ध्यान देने के लिए ट्रंप को धन्यवाद कहा।करेन ने सार्वजनिक रूप से कहा है कि एचसीक्यू ने उनकी जान बचाई है और इस पर ध्यान देने के लिए ट्रंप का शुक्रिया।

एक अमेरिकी रिपोर्टर ने सोमवार को अमेरिका और भारत के रिश्तों को खराब करने के इरादे से झूठा दावा कर राष्ट्रपति से सवाल कर कहा कि जिस प्रकार ट्रंप ने पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट दस्ताने, गाउन और मास्क के निर्यात पर प्रतिबंध लगाय है, ठीक उसी प्रकार इसके जवाब में नई दिल्ली ने एचसीक्यू के निर्यात पर प्रतिबंध लगाया है।

ट्रंप इस सवाल से हैरान हुए और उन्होंने कहा, "मैंने यह नहीं सुना कि यह उनका (प्रधानमंत्री मोदी का) फैसला है। मैंने कल उनसे बात की थी, हमारी बहुत अच्छी बात हुई। हम देखेंगे कि ऐसा है या नहीं यदि ऐसा हुआ तो मुझे आश्चर्य होगा कि क्योंकि आपको पता है भारत-अमेरिका के संबंध बेहद अच्छे हैं।

उन्होंने कहा, "यदि फिर भी वह ऐसा करते हैं तो कोई बात नहीं पर इस पर प्रतिक्रिया स्वाभाविक है।" इस बीच, भारतीय मीडिया और राजनीतिक पार्टियां भी इसमें कूद पड़ी और रिपोर्टर के झूठे दावे पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यहां धमकियां दी जा रही है और प्रधानमंत्री मोदी ने देश के सम्मान को छोटा कर दिया है।

हालांकि, राष्ट्रपति ट्रंप ने अब बात को स्पष्ट करते हुए कहा है कि पहले को ऑर्डर को पूरा करते हुए भारत हमारी मांगों को पूरा कर रहा है। गौरतलब है कि भारत ने हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वाइन के निर्यात प प्रतिबंध लगा दिया है। वहीं सरकार ने निर्णय को स्पष्ट करते हुए कहा है कि जरूरतों को देखते हुए और मानवीय आधार पर भारत अन्य देशों की मदद कर सकता है।

Tags:

अमेरिका,ट्रंप,कोरोनावायरस,हाइड्रोक्सी,क्लोरोक्वाइन,एचसीक्यू,मोदी,शुक्रिया,

DEFENCE MONITOR

भारत डिफेंस कवच की नई हिन्दी पत्रिका ‘डिफेंस मॉनिटर’ का ताजा अंक ऊपर दर्शाया गया है। इसके पहले दस पन्ने आप मुफ्त देख सकते हैं। पूरी पत्रिका पढ़ने के लिए कुछ राशि का भुगतान करना होता है। पुराने अंक आप पूरी तरह फ्री पढ़ सकते हैं। पत्रिका के अंकों पर क्लिक करें और देखें। -संपादक

Contact Us: 011-66051627

E-mail: bdkavach@gmail.com

SIGN UP FOR OUR NEWSLETTER
NEWS & SPECIAL INSIDE !
Copyright 2018 Bharat Defence Kavach. All Rights Resevered.
Designed by : 4C Plus